रेत डम्पिंग करने के लिए शासकीय भूमि में लगे हरे-भरे पेड़ों की अवैध कटाई

लवन। जिला बलौदाबाजार पुलिस अधीक्षक नीथू कमल द्वारा सम्पत्ति विरूद्ध लंबित अपराधों में गंभीरता दिखाते आरोपी की शीघ्र पतासाजी कर गिरफ्तारी के निर्देश सभी थाना एवं चौकी प्रभारी को दिया गया है। जिसके पालन में पुलिस अधीक्षक जे आर ठाकुर, एसडीओपी राजेश जोशी के मार्गदर्शन एवं पर्यवेक्षण में चौकी प्रभारी लवन रोशन सिंह राजपुत के नेतृत्व में चौकी लवन पुलिस द्वारा भादवि की धारा 379, 447, 34, 120 के आरोपी की पतासाजी करते हुए आरोपी जनपद पंचायत उपाध्यक्ष पवन साहू पिता स्व. खुनू राम साहू निवासी ग्राम सिरियाडीह एवं अर्जुन पिता संतलाल निषाद निवासी ग्राम सुनसुनिया, मंगलवार को उनके घर से गिरफ्तार कर न्यायालय के समक्ष पेश कर न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजा गया।

बिना अनुमति शासकीय भूमि में लगे 541 पेड़ों की गई कटाई 

विदित हो कि नायब तहसीलदार लवन द्वारा ग्राम सेमरिया के ग्रामीणों के शिकायत पर जांच कर चौकी लवन में आरोपीगण जनपद पंचायत उपाध्यक्ष पवन साहू, सेमरिया सरपंच अमित बार्वे, सुनिसुनिया निवासी अर्जुन निषाद द्वारा ग्राम सेमरिया के शासकीय भूमि में लगे 541 नग बबूल के हरे-भरे पेड़ो की बिना शासकीय अनुमति के बिना कटवाकर लकड़ी गायब कर दिया गया। उक्त मामले का रिपोर्ट दर्ज कर चौकी लवन में अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। आरोपियों के विरूद्ध साक्ष्य संकलित कर गिरफ्तार किया गया।

पूर्व में सत्ता पक्ष के एक कदावर नेता का मिला था संरक्षण 

उल्लेखनीय है कि जनपद उपाध्यक्ष को पूर्व में सत्ता पक्ष के एक कदावर नेता का संरक्षण प्राप्त था। जिसके चलते दर्जनों शिकायत के बावजूद उस पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही थी। उस दौरान यह बात सामने आई थी कि जनपद उपाध्यक्ष द्वारा ग्राम पंचायत से अनुमति लेकर समीप स्थित घाटों से रेत का उत्खनन किया जाता था। इस घाट पर वाहनों का आवागमन साल के 9-10 माह तक सुचारू रूप से होता है, किन्तु महानदी का जल स्तर बढ़ जाने के बाद रेत उत्खनन का कार्य मुश्किल होता है।

रेत की डम्पिंग कर किया जाता था ग्राहकों को सप्लाई 

सेमरिया के वृक्षों की कटाई कर इस मैदान पर रेत का डपिंग कर उसे हाईवा, टेऊक्टर चालकों को सप्लाई किया जाता था। इससे पवन साहू व उसके सहयोगी साथी को तो खुब मुनाफा हुआ। किन्तु ग्रामीणों के विरोध के चलते पूरा मामला उजागर हो गया था। और मामला लवन चौकी में पहुंच गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *