विधानसभा का बजट सत्र 8 से

रायपुर। पंचम छत्तीसगढ़ विधानसभा का बजट सत्र 8 फरवरी से प्रारंभ हो रहा है। प्रथम दिन छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री एवं वित्तमंत्री भूपेश बघेल सुबह 11 बजे बजट प्रस्तुत करेंगे। उक्ताशय की जानकारी विधानसभा भवन में आयोजित पत्रकारवार्ता में विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत ने पत्रकारवार्ता में दी। प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए डॉ. महंत ने कहा कि विधानसभा का प्रथम सत्र 4 जनवरी को छत्तीसगढ़ की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल के अभिभाषण से प्रारंभ हुआ था। लगभग 29 दिन के अंतराल के बाद द्वितीय चरण में विधानसभा की कार्यवाही शुक्रवार से प्रारंभ होगी। बजट सत्र का प्रसारण आकाशवाणी रायपुर एवं दूरदर्शन केन्द्र रायपुर द्वारा लाईव टेलीकास्ट किया जाएगा। पत्रकारवार्ता में डॉ. महंत ने बताया कि प्रथम बार विधानसभा में 39 नए सदस्य निर्वाचित हुए हैं। नवनिर्वाचित विधायकों को संसदीय कार्य प्रणाली प्रक्रिया एवं व्यवहार तथा सभा से संबंधित विभिन्न प्रक्रियाओं से परिचित कराने के उद्देश्य से 9 एवं 10 फरवरी को मध्यप्रदेश के विधानसभा के अध्यक्ष नर्मदा प्रसाद प्रजापति द्वारा प्रबोधन कार्यक्रम का उद्घाटन किया जाएगा।
रविवार 10 फरवरी को समापन सत्र अपरान्ह तीन बजे मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह के संबोधन से होगा। विधानसभा अध्यक्ष ने बताया कि अन्य वक्ताओं में मंत्री रविन्द्र चौबे, राजगोपाल पी.व्ही. संस्थापक एकता परिषद, मनोज रावत, सदस्य उत्तराखंड विधानसभा, जगदीशचन्द्र सचिव उत्तराखंड विधानसभा, बृजमोहन अग्रवाल विधायक एवं पूर्व मंत्री, अजय चन्द्राकर विधायक एवं पूर्व मंत्री एवं अमिताभ जैन अपर मुख्य सचिव छत्तीसगढ़ शासन द्वारा विभिन्न विषयों पर सारगर्भित जानकारी दी जाएगी। डॉ. महंत ने बताया कि विधानसभा सत्र के लिए अब तक कुल 1826 प्रश्र पुछे जाने की सूचना आई है। तारंकित प्रश्र की संख्या 1003 है एवं अतारांकित प्रश्रों की कुल संख्या 823 है। अध्यक्ष ने बताया कि ध्यानाकर्षण प्रस्ताव की 66 सूचनाएं एवं स्थगन प्रस्ताव की 32 सूचनाएं मिली है।
नियम 139 के अधीन अविलंबनीय लोक महत्व के विषय पर चर्चा के लिए एक सूचना अशासकीय संकल्प की 11 सूचनाएं एवं शून्य काल की 4 सूचनाएं प्राप्त हुई हैं। डॉ. महंत ने बताया कि 11 एवं 12 फरवरी को वर्ष 2019-20 के लिए प्रस्तुत बजट में उल्लेखित आय-व्यय पर सामान्य चर्चा होगी जबकि 13 फरवरी से 6 मार्च के मध्य विभागवार अनुदान मांगों पर चर्चा होगी। 6 मार्च को विनियोग विधेयक विधानसभा में पुर:स्थापन होगा। 7 मार्च 2019 को विधानसभा में विनियोग विधेयक पर विचार चर्चा एवं पारण निर्धारित है। पत्रकारवार्ता के दौरान विधानसभा के सचिव चन्द्रशेखर गंगराड़े भी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *