जहां मरम्मत वहां बार-बार हो रहे हादसे, टे्रनों की चाल बिगड़ी

कोरबा। चांपा यार्ड में रेल लाइनों की स्थिति ठीक नहीं है। कल पुन: स्लीपर पैकिंग के दौरान यूनिमेट मशीन के दो पहिए पटरी से उतर गए। लगातार तीन दिन तक पटरी से उतरने की घटना से रेल अफसरों में हड़कंप मच गया है। लगातार हो रहे हादसों के कारण ट्रेनों की लेटलतीफी का सिलसिला जारी है। कोरबा से चलने वाली व कोरबा आने वाली यात्री ट्रेनें विलंब से चल रही है।

बताया जा रहा है कि यह घटना लाइन क्रमांक पांच की है। शनिवार को इसी लाइन पर मालगाड़ी बेपटरी हुई थी। रविवार को पाइंट क्रमांक 44 पर ही कोयला लोड एक मालगाड़ी के चार वैगन पटरी से उतर गए। मौके पर मरम्मत चल रही है। स्लीपर पैकिंग की जा रही थी। यूनिमेट मशीन का उपयोग इसी काम के लिए होता है। इस दौरान अचानक मशीन का बैलेंस बिगड़ा और दो पहिए पटरी छोड़कर नीचे चलने लगे। किसी को इसकी भनक न लगे इसलिए आनन- फानन में उतरे पहिए को पटरी पर चढ़ाने के लिए जुट गए। लेकिन घटना को दबाने में रेल प्रशासन असफल रहा। इस घटना के बाद के बाद माना जा रहा है कि लाइन जोडऩे के काम में सतर्कता नहीं बरती जा रही है। यदि इसी स्थिति में दोबारा लाइन फीट दे दिया जाता तो फिर से मालगाड़ी के दुर्घटनाग्रस्त होने की आशंका थी। लिहाजा जोन व मंडल के सारे अफसर अभी मौके पर मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *