चापड़ी-सिद्धेश्वर के विकास एवं राखा खान के पुनरारंभ का भूमि पूजन सम्पन्न

भिलाई। आज हिन्दुस्तान कॉपर लिमिटेड की घाटशिला इकाई के राखा में संाद्रक संयंत्र का निर्माण चापड़ी-सिद्धेश्वर नई खानों का विकास का शिलान्यास और राखा माइंस का पुनरारंभ का भूमि पूजन कार्यक्रम किया गया। इस अवसर पर झारखंड के मुख्यमंत्री रघुबर दास मुख्य अतिथि थे, विशिष्ठ अतिथि विद्युत बरन महतो, सांसद जमशेदपुर क्षेत्र और लक्ष्मण टुडू, विधायक, घाटशिला क्षेत्र भी मौजूद थे। हिन्दुस्तान कॉपर लिमिटेड के अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेश संतोष शर्मा, द्वारा कार्यक्रम की अध्यक्षता की गई। इस अवसर पर एस.के.भट्टाचार्य, निदेशक खान, एचसीएल और दिनेश साव, उपाध्यक्ष, जिलापरिषद 20 सूत्री कार्यक्रम, भी इस अवसर पर उपस्थित थे।
उपस्थित जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री रघुबर दास ने चापड़ी-सिद्धेश्वर माइंस के विकास, नई खानों के खोलने के प्रयास और 2001 में बंद हुई राखा माइंस के पुनरारंभ के प्रयास के लिए एच.सी.एल. प्रबंधन को बधाई दी और शुभकामनायें प्रदान की। इस अवसर पर बोलते हुए, मुख्यमंत्री ने कहा कि, जब इस इकाई को बंद कर दिया गया था यहाँ की कर्मचारियों की पीड़ा को महसूस करते हुए और आज यह खुशी का मौका है कि, कंपनी द्वारा 2001 में बंद हुई राखा माइंस को पुररारंभ कर एक उचित निर्णय लिया है और हिन्दुस्तान कॉपर लिमिटेड द्वारा भविष्य में झारखण्ड राज्य में खान विस्तारिकरण प्रोजेक्ट शुरू करने में राज्य सरकार उन्हें हर संभंव सहायता प्रदान करेगी।
अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक ने घाटशिला क्षेत्र में खानों के विस्तारीकरण और उसके योजना के बारे में विस्तार से बताया। उन्हें राज्य सरकार के सक्रिय भूमिका और सहयोग के लिए धन्यवाद दिया और उन्होंने बताया कि, सांसद विद्युत बरन महतो द्वारा प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री झारखण्ड से मिलकर सरकारी अड़चनों को दूर करने में हमारी मदद की। संतोष शर्मा ने बताया कि चापड़ी और राखा परियोजना में लगभग 1000 करोड़ रुपये निवेश किया जायेगा और इस प्रोजेक्ट से संयुक्त उत्पादन 50 लाख टन प्राप्त होगा और इनमेें शून्य खान अवशिष्ट का अनुपालन किया जाएगा।
संतोष शर्मा ने यह भी बताया कि, राखा में सांद्रक संयंत्र के लिए बिद्युत बरन महतो द्वारा रिकॉर्ड समय में भूमि उपलब्ध कराने में हमारी मदद की और इसमें राज्य सरकार ने भी हमें भरपूर सहयोग दिया। अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक द्वारा यह भी बताया गया कि, इन परियोजनाओं के शुय होने से इस क्षेत्र के लगभग 8000 लोगों को प्रत्यक्ष रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे। इस अवसर पर शर्मा ने यह भी बताया कि, अगले 2 वर्ष के दौरान राज्य सरकार द्वारा यह निर्णय लिया गया है कि, ताम्र खनिज के खोज के लिए लीज भूमि पर 1000 मीटर गहरा खुदाई करेगी और इसमें 100 करोड़ रुपये खर्च की जायेगी।
विद्युत बरन महतो, सांसद, जमशेदपुर क्षेत्र और लक्ष्मण टुडू, विधायक, घाटशिला ने भी भूमि पूजन समारोह में अपने विचार व्यक्त किये। इस अवसर पर महतो ने राखा क्षेत्र में खनन गतिविधियों और उसके महत्व पर प्रकाश डाला और हिन्दुस्तान कॉपर लिमिटेड से अनुरोध किया कि, इस क्षेत्र के लोंगो को ही शत-प्रतिशत रोजगार प्रदान किया जाए।
आई.सी.सी. के इकाई प्रमुख संजय सिंह ने मुख्यमंत्री रघुबर दास, बिद्युत बरन महतो, सांसद जमशेदपुर और अन्य गणमान्य अतिथियों को उनकी उपस्थिति के लिए उन्हें अभार व्यक्त किया और इस शुभ अवसर पर उपस्थित जिला के प्रशासनिक अधिकारियों को इस कार्यक्षेत्र को सफल बनाने के लिए धन्यवाद ज्ञापन किया।
भारत वर्ष में हिंदुस्तान कॉपर लिमिटेड के ताम्र खनन के लिए एकमात्र कंपनी है और घाटसिला इकाई के पाँच खानों का विस्तारिकरण कर इसकी वर्तमान उत्पादक क्षमता चार लाख टन से बढ़ाकर 72 लाख टन करने की योजना है और इसमें 1600 करोड़ रुपया निवेश किया जायेगा। अगले पाँच वर्ष इन कार्य को पूर्ण कर लिया जायेगा। इस प्रस्तावित परियोजना के सफलता से देश में आयातित होने वाले तांबा सांद्रता की मात्रा में कमी आयेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *